• 24 घंटे में ही आरोपी को धर दबोचने में Police को मिली सफलता।
  • दुत्कार और वाद – विवाद बना मौत का कारण
विनोद नेताम
(संवाददाता)
Ad space

बालोद (hct)। गुरुर थाना अंतर्गत ग्राम छेड़िया से पुलिस को सूचना मिली कि मृतिका पूर्णिमा बाई ठाकुर; पति सेवाराम ठाकुर, उम्र 40 वर्ष, निवासी-ग्राम-छेड़िया की; अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या कर दी गई है। गुरूर पुलिस द्वारा घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियो को अवगत करा कर तत्काल मौके पर पहुंचकर देखा गया तो हत्या की घटना की सूचना सही पाये जाने पर, मौके पर सूचक मनोहर लाल तारम निवासी छेडिया की मौखिक रिपोर्ट पर मर्ग इंटीमेशन एवं देहाती नालसी लेकर धारा 302 भादवि अपराध दर्ज कर विवेचना मे लिया गया।

मृतिका का शव का पंचनामा कार्यवाही कर Post Mortem कराया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जितेन्द्र सिंह मीणा के मार्गदर्शन तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डी.आर.पोर्ते और उप पुलिस अधीक्षक दिनेश सिन्हा के निर्देशन में थाना प्रभारी गुरूर निरीक्षक अरूण नेताम तथा थाना गुरूर के स्टॉफ द्वारा संदेहियों से पूछताछ किया गया। पुलिस द्वारा प्राप्त तथ्यों को बारिकी से तस्दीक करने पर मृतिका की हत्या उसके सौतेला पुत्र शैलेन्द्र कुमार ठाकुर उम्र 24 वर्ष निवासी छेड़िया थाना गुरूर के द्वारा कारित करने की संभावना पर, घटना के संबंध में उससे पुछताछ किए जाने पर पहले गुमराह किया। पुनः हिकमत अमली एवं तकनीकी साक्ष्य के आधार पर पूछताछ करने पर आरोपी शैलेन्द्र द्वारा अपनी सौतेली माँ का हत्या करना स्वीकार किया।

आरोपी शैलेन्द्र ठाकुर

दुत्कार और वाद – विवाद बना मौत का कारण :

आरोपी ने बताया कि उसके पिता सेवाराम ठाकुर द्वारा पूर्णिमा (मृतिका) को पत्नी बना कर लाया है; तबसे सौतेली मां के द्वारा उसे (आरोपी शैलेन्द्र ठाकुर) उसके पिताजी से अलग कर दिये थे। जिस कारण आरोपी शैलेन्द्र अपने पिता एवं सौतेली मां से अलग अपनी दादी के साथ रहता था। सौतेली मां द्वारा उसे अपने पिताजी से दूरी बनाकर रहने बोलकर आए दिन वाद-विवाद करती थी। जिस कारण शैलेन्द्र ठाकुर अपनी सौतेली मां से गुस्साकर रंजिश रखता था। घटना दिनांक 20.12.2020 को आरोपी शैलेन्द्र ठाकुर अपनी शादी करने के लिए लड़की देखने ग्राम चिरचारी गया था, लड़की देखकर वापस घर आने पर मृतिका सौतेली मां फिर से वाद-विवाद कर ताना मारते गाली दी थी, जिस कारण आरोपी शैलेन्द्र गुस्से मे आकर कमरा अंदर से लोहे का सब्बल निकालकर आंगन मे बैठी सौतेली मां पूर्णिमा के सिर मे संघातिक चोट पहुंचाकर हत्या कर दिया व शव को मृतिका के कमरे में ले जाकर रख अपने ऊपर संदेह न हो यह सोंचकर अपने जीजा के घर जाना बताकर ग्राम गुड़राटोला कुसुमकसा चला गया था।

24 घंटे में ही आरोपी को धर दबोचने में Police को मिली सफलता।

आरोपी Accused द्वारा घटना में प्रयुक्त किया गया लोहा का सब्बल को जप्त कर आरोपी को गिप्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल दाखिल किया गया। इस प्रकरण की विवेचना एवं आरोपी गिरफ्तारी में निरीक्षक अरूण नेताम, उपनिरीक्षक अरूण साहू, प्र.आर. बलराम कोसे, आरक्षक शेर अली, आरक्षक चंचल भगत की मुख्य भूमिका रही है गिरफ्तार आरोपी शैलेन्द्र कुमार ठाकुर उम्र 24 वर्ष निवासी छेड़िया थाना गुरूर का बताया जा रहा है ,ग्यात हो ,की दो दिन पहले महिला की मर्डर की खबर को लेकर गुरूर थाना क्षेत्र में सनसनी फैली हुई थी, जिस पर गुरूर पुलिस ने अपनी सुझबूझ और पैनी निगाह के चलते महज 24 घंटे में ही आरोपी को धर दबोचने में सफलता पाई है निश्चित तौर गुरूर पुलिस के टीम बधाई के पात्र है।

whatsapp group
ad space

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here